Thursday, December 4, 2008

विश्व ऐड्स दिवस - 1 december







आज मैंने उत्तरखंड राज्य ऐड्स नियंत्रण समिति और उमा द्वारा आयोजित वर्कशॉप में भाग लिया ...जन जागरण में महिलाओं की भूमिका पर , उनके अहम् रोल पर चर्चा की गई AIDS जैसे खतरनाक बीमारी की कैसे रोकथाम की जा सकती है .....Prevention is better than cure......Awareness के लिए युवा वर्ग और महिलाएं आगे आयें और समाज को एक मजबूत दिशा दें ....

3 comments:

ranjan said...

AIDS जैसे खतरनाक बीमारी...? AIDS बीमारी?

समयचक्र - महेद्र मिश्रा said...

is ghatak beemari se nipatane ke liye sabhi ko mila julakar sarthak pryaas karna honge. salaah ke liye dhanyawad.

Suresh Chandra Gupta said...

कुछ और बताईये इस वर्कशाप के बारे में. एड्स के ख़िलाफ़ सबको एकजुट होकर संघर्ष करना होगा.